गुरुवार, 4 नवंबर 2010

ये दिवाली कुछ कहती है .....



     आप सभी ब्लागर साथियों को इस दिवाली की बहुत-२ सुभकामनाये, आप सभी का भविष्य  भी दिवाली की तरह उज्जवल हो व जीवन खुशियों से  रोशन रहे.......! समय के   अभाव से हम   सभी ब्लॉगों पर नहीं आपाते इसके लिए आप सभी से हाथ जोड़कर क्षमा चाहेंगे !   यहाँ आज  मैं  कुछ क्षणिकाएं लिखने की कोशिस कर रहा  हूँ  आप अपनी     प्रतिकिर्या जरुर देवें !



    (१) दीप *
    अब इन्तेजार के दिये बुझने लगे हैं ....
    तेरी उम्मीदों के  नए  दिये  जला रहा हूँ आज ..
    तुमने ही तो कहा था ..
    तुम्हारे आंगन में अँधेरा बहुत  है !
   



 

    (२) पटाखे **
    ये दुनिया भी अजीब है ...
   धमाको पर ज्यादा ध्यान देती है !
   ठीक ही तो है ....
   दिल टूटने की आवाज जो नहीं होती !

 



    (३) मिठाई ***
      दिल को यकींन  था
      मोहब्बत में वफ़ा  मेलेगी ....
      पर ये क्या ?
      इसमें भी धोखा  मिलाया गया है ..!

    


  पर आप मिठाइयाँ खरीदने में बिलकुल न धोखा  खाइएगा .... इसी के साथ एक बार फिर से आप सभी को दिवाली के पावन पर्व की हार्दिक बधाई .........!

15 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी रचना
    आपको भी सपरिवार दिपोत्सव की ढेरों शुभकामनाएँ
    मेरी पहली लघु कहानी पढ़ने के लिये आप सरोवर पर सादर आमंत्रित हैं

    उत्तर देंहटाएं
  2. Bahut-2 dhanyabad Ashish ji,
    ham aapke blog jarur visit karenge.

    उत्तर देंहटाएं
  3. रवि भाई,
    आपकी क्षणिकाएँ पढ़ीं...प्रसन्नता हुई आपके ब्लॉग पर आकर।
    दीपावली की अनंत आत्मीय मंगलकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  4. अच्छी क्षणिकाएं रवि जी ....

    दोखा को धोखा कर लें .....

    उत्तर देंहटाएं
  5. bahut hi achhi aur badhiya lagi aapki xhnikayen .
    deepawali v-bhai duuj ke pawan parv par aapko hardik badhai.
    poonam

    उत्तर देंहटाएं
  6. Dhabyabad Heer ji....
    maine ise sudhar liya ... blog par aane ke liye dhanyabad.

    उत्तर देंहटाएं
  7. Thankx Jentendra ji.....
    aapko plog pasand pada ye jaan kar hame khusi hui.

    उत्तर देंहटाएं
  8. Dil se aapka abhar poonam di,
    aapko bhi diwali aur bhaiya duj ki subhkamnaye.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी शुभकामनाएं मिलीं
    बहुत बहुत शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  10. thoda der se pad rahaa hun....

    teenon hi rachnaayen... achhi hain...
    "DEEP" ka to jawaab hi nahin....

    उत्तर देंहटाएं